डिप्रेशन से कैसे बचे

डिप्रेशन एक मानसिक रोग है, आज के समयमे इसके सबसे अधिक मरीज़ देखने को मिलते हैं।

यह समस्या भारत समेत दुनियाभर में फैली हुई हैं, जो विश्व भर के लिए चिंता का विषय है।

ऐसे मानसिक रोग की जानकारी न होने के कारण लाखो लोग इससे परेशान होकर आत्महत्या कर लेते हैं।

इस लेख में हम डिप्रेशन के लक्षण और डिप्रेशन से बचने के उपाय से जुड़ी आवश्यक जानकारी के बारे में बात करेंगे ।

डिप्रेशन के लक्षण (Symptoms of Depression)

Depression से ग्रस्त व्यक्ति हमेशा चिंताग्रस्त रहते हैं, इसके अलावा और भी कइ  लक्षण होते है जैसे की

१. हमेशा उदास रहेना ।

२. आत्मविश्वास की कमी होना |

३. हमेशा चिड़चिड़ा रहना |

४. स्वयं को हारा हुआ और थका हुआ महसूस करना ।

५.  किसी भी कार्य में ध्यान केन्द्रित करने में परेशानी होना ।

६. खुद को परिवार एवं भीड़ वाली जगहों से अलग रखने की कोशिश करना ।

७. खुशी के वातावरण में या खुशी देने वाली चीजों के होने पर भी उदास रहना ।

८. कोई भी निर्णय लेने में स्वयं को असमर्थ पाना।

९. अस्वस्थ भोजन की ओर ज्यादा आसक्त रहना ।

१०. कोई भी समस्या आने पर बहुत जल्दी हताश हो जाना ।

११. बहुत अधिक गुस्सा आना ।

१२. हर समय कुछ बुरा होने की आशंका से घिरे रहना |

१३. अकेले रहना पसन्द करना और कम बोलना |

१४. भीतर से हमेशा बेचैन रहना और हमेशा चिन्ता में डूबे रहना ।

डिप्रेशन से बचने के उपाय (Prevention Tips for Depression)

डिप्रेशन एक मानसिक रोग है, इसलिए इससे बचने के लिये हमें हमारे मन पर कार्य करना होगा।

इसलिए हमें हमारे मन को मजबूत बनाना होगा।

निचे दिए गए सुझाव को आप अपने दैनिक आचरण में लागु करते हो तो कुछ ही दिनो मे डिप्रेशन से स्वयं को आज़ाद महसूस करोगे और अपने लिये अपने परिवार के लिये खुशहाल जीवन का निर्माण करोगे।

1. अपने परिवार और दोस्तों के साथ अधिक बिताना चाहिए। अपने किसी खास दोस्त से मन की बातों को कहना चाहिए।

2. प्राकृतिक एवं शान्ति प्रदान करने वाली जगहों पर जाना चाहिए |

3. मधुर संगीत एवं सकारात्मक विचारों से युक्त किताबें पढ़नी चाहिए। महान व्यक्तिओकी बायोग्राफी पढ़नी चाहिए या फिर मोटिवेशनल वीडियो देखने चाहिए |

4. स्वयं को सामाजिक गतिविधियों में सक्रिय रखना चाहिए और अकेले रहने की आदत से बचना चाहिए।

5.  सुबह जल्दी उठकर व्यायाम या योगासन करना चाहिए। 

6. मेडिटेशन करना चाहिए। इससे मन शान्त होता हैं ।

7. भरपूर मात्रा में पानी पीना चाहिए तथा ऐसे फलों और सब्जियों का अधिक सेवन करना चाहिए जिनमें पानी की मात्रा अधिक हो।

8. कहते हे जैसा अन्न वैसा मन इसलिये पोषक तत्वों से भरपूर भोजन करना चाहिए जिसमें शरीर के लिए जरूरी सभी विटामिन्स और खनिज हो।

9. हरी पत्तेदार सब्जियाँ एवं मौसमी फलों का सेवन अधिक करें।

10. जितना हो सके जंक फूड और बासी भोजन से दूर रहना चाहिए । इसकी बजाय घर पर बना पोषक तत्वों से भरपूर और सात्विक भोजन करना चाहिए।

11. अधिक चीनी एवं अधिक नमक का सेवन न करे ।

12. मांसाहार और बासी भोजन कम करे ।

13. धूम्रपान, मद्यसेवन या किसी भी प्रकार का नशे का सर्वथा त्याग करना चाहिए।

14. कैफीनयुक्त पदार्थ जैसे चाय, कॉफी का अधिक सेवन न करे ।

Leave a Reply

Close Menu