3 best small moral story in hindi – Life changing stories in hindi

Small moral story in hindi

1. Everything is within you

small moral story in hindi
small moral stories in hindi

एक आदमी बहुत बड़े संतमहात्मा के पास गया और बोला, हे मुनिवर! मैं राह भटक गया हूँ, कृपया मुझे बताएँ कि सच्वाई, ईमानदारी, पवित्रता कैसे मिलेगी ?

          संत ने एक नज़र आदमी को देखा, फिर कहा, ‘अभी मेरा साधना करने का समय हो गया है। सामने उस तालाब में एक मछली है, उसी से तुम यह सवाल पूछो, वह तुम्हारे प्रश्न का उत्तर दे देगी।

          वह आदमी तालाब के पास गया। वहाँ उसे वह मछली दिखाई दी, मछली आराम कर रही थी। जैसे ही मछली ने अपनी आँख खोली तो उस आदमी ने अपना सवाल पूछा।

          मछली बोली, ‘मैं तुम्हारे सवाल का जवाब अवश्य दूँगी किन्तु मैं सोकर उठी हूँ, इसलिए मुझे प्यास लगी है। कृपया पीने के लिए एक लौटा जल लेकर आओ।

वह आदमी बोला, कमाल है! तुम तो जल में ही रहती हो फिर भी प्यासी हो?

मछली ने कहा, ‘तुमने सही कहा। यही तुम्हारे सवाल का जवाब भी है।

          सच्वाई, ईमानदारी, पवित्रता तुम्हारे अंदर ही है। तुम उसे यहाँवहाँ खोजते फिरोगे तो वह सब नही मिलेगी, अतः स्वयं को पहचानो। उस आदमी को अपने सवाल का जवाब मिल गया।

         सुखशांति, ईमानदारी, पवित्रता सच्चाई इत्यादि की खोज में मानव कहाँकहाँ नही भटकता,  क्या क्या जतन नही करता, फिर भी उसे निराशा ही हाथ लगती है। वह नही जानता, जिसकी खोज में वह भटक रहा है, वह तो उसके भीतर ही मौजूद है।


सुखशांति, ईमानदारी, पवित्रता सच्चाई इत्यादि की खोज में
मानव कहाँकहाँ नही भटकता,  

क्या क्या जतन नही करता, फिर भी उसे
निशशा ही हाथ लगती है।

वह नही जानता, जिसकी खोज में वह भटक रहा है, वह तो उसके भीतर ही मौजूद है।

उसकी स्थिति कस्तूरी कुंडल बसै मृग ढूंढे वन माहिजैसी हो जाती है।

deer,mrug,kasturi

Small moral story in hindi

2. Good Behaviour

हमारे जीवन के छोटे से छोटे कार्य भी हमारे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

इसीलिए कहा जाता है कि आप जब भी किसी से मिलो तो पूरे जोश से मिलो, हमेशा दूसरों की मदद करो और जो काम करो पूरी ईमानदारी से करो।

फिर देखीये आपके जीवन में कैसे नए नए रास्ते खुलते चले जाते हैं।

इसी बात को प्रमाणित करती हुयी यह प्रेरक कहानी हमें बताती हे की हमारा अच्छा व्यवहार हमारे लिये कितना महत्वपूर्ण हो सकता है।

anmolvichar

    

ये कहानी हे एक ऐसे व्यक्ति की जो एक फ्रीजर प्लांट में काम करता था।

वह दिन का अंतिम समय था और सभी लोग घर जाने को तैयार थे।

तभी प्लांट में एक तकनीकी समस्या (Technical problem) उत्पन्न हो गयी और वह व्यक्ति उसे दूर करने में जुट गया।

जब तक वह समस्या को दूर करता, तब तक अत्यधिक देर हो चुकी थी।

लाईटें बंध हो चुकी थी , दरवाजे बंध हो गए और वह व्यक्ति भी उसी प्लांट में बंद हो गया।

बिना हवा और प्रकाश के पूरी रात आइस प्लांट में फंसे रहने के कारण उसकी कब्रगाह बनना तय था।

लगभग एक घण्टे का समय बीत चुका था ।

तभी अचानक उसने किसी व्यक्ति को दरवाजा खोलते पाया।

उसने देखा कि दरवाजे पर सिक्योरिटी गार्ड टार्च लिए खड़ा है।

यह एक चमत्कार जैसा था । उसने उसे बाहर निकलने में मदद की।

बाहर निकल कर उस व्यक्ति ने सिक्योरिटी से पूछा की “आपको कैसे पता चला कि मै भीतर हूँ?”

तब सिक्योरिटी गार्ड ने उत्तर दिया – सर, इस प्लांट में १०० लोग कार्य करते हैँ पर सिर्फ आप ही  हैँ जो मुझे सुबह आने पर गुड़ मॉर्निंग और शाम को जाते समय बाय कहते हैँ।

आज सुबह आप ड्यूटी पर आये थे पर शाम को आप बाहर नहीं निकले। इससे मेरे मन में शंका हुई और मैं देखने चला आया।

वह व्यक्ति नहीं जानता था कि उसका किसी को छोटा सा सम्मान देना आज उसका जीवन बचाएगा।

याद रखेँ, जब भी आप किसी से मिलें तो उसका आदर और मुस्कुराहट के साथ सम्मान करें।

आप जो भी जैसा भी कार्य करते हे वही लौटकर वापस आता हे। इसलिये जीवन में हर किसी के साथ अच्छे से वर्ताव करे  सभी से प्रेमपूर्ण व्यवहार करे ।

small moral stories in hindi
small moral stories in hindi

Small moral story in hindi

3. Trust on God

 

रात के ढ़ाई बजे थे
एक सेठ को नींद नहीं आ रही थी
वह घर में चक्कर पर चक्कर लगाये जा रहा था पर उसे चैन नहीं पड़ रहा था
आख़िर थक कर नीचे उतर आया और कार निकाली |

वह शहर की सड़कों पर निकल गया
रास्ते में एक मंदिर दिखा तो सोचा कि थोड़ी देर इस मंदिर में जाकर भगवान के पास बैठता हूँ, प्रार्थना करता हूँ तो शायद शांति मिल जाये |

वह सेठ मंदिर के अंदर गया तो देखा,
एक दूसरा आदमी पहले से ही भगवान की मूर्ति के सामने बैठा था मगर उसका चेहरा उदास था और आँखों में करूणा झलक रही थी |

सेठ ने पूछा – क्यों भाई इतनी रात को मंदिर में क्या कर रहे हो…??

आदमी ने कहा – मेरी पत्नी अस्पताल में है, सुबह यदि उसका आपरेशन नहीं हुआ तो वह मर जायेगी और मेरे पास आपरेशन के लिए पैसा नहीं है |

उसकी बात सुन कर सेठ ने जेब में जितने रूपए थे वह उसने उस आदमी को दे दिये
अब गरीब आदमी के चहरे पर चमक आ गईं थी |

सेठ ने अपना कार्ड दिया और कहा इसमें फोन नम्बर और पता भी है और ज़रूरत हो तो निसंकोच बताना |

उस गरीब आदमी ने कार्ड वापिस दे दिया और कहा,
मेरे पास उसका पता है इस पते की ज़रूरत नहीं है सेठ जी |

आश्चर्य से सेठ ने कहा – किसका पता है भाई…??

उस गरीब आदमी ने कहा – जिसने रात को ढ़ाई बजे आपको यहाँ भेजा उसका |

इतने अटूट विश्वास से सारे कार्य पूर्ण हो जाते हैं |

 

small moral stories in hindi

Leave a Reply

Close Menu